बचपन में बैट के पैसे नहीं थे अब बना डाले बैटिंग के विश्व रिकार्ड - Hindi Motivation



Rohit Sharma Biography in Hindi - Inspiring Story
World Recoder Player Rohit Sharma Story
Indian Opener Batsman Rohit Sharma

आज की कहानी ऐसे युवा कि है जिसने बचपन में बहुत तकलीफे झेली। पिता की कमाई इतनी कम थी कि उन्होने अपने लाडले बेटे को दिल पर पत्थर रखकर दादा-दादी और चाचा के पास रहने के लिए भेज दिया। लेकिन फिर भी उस लड़के ने हिम्मत नहीं हारी और अपने जुनुन क्रिकेट को पुरे ध्यान से सीखा कोच भी ऐसा मिला कि उसे स्कोलरशिप दिलवाकर एक अच्छी स्कूल में दाखिला दिलाया और उसी का परिणाम है कि आज वह क्रिकेटर बैटिंग के कई विश्व रिकार्ड अपने नाम कर चुका है।


रोहित गुरूनाथ शर्मा का जन्म 30 अप्रैल, 1987 को बनसोड़, नागपुर में हुआ हुआ था जो महाराष्ट्र राज्य का हिस्सा है। उनके पिता गुरूनाथ शर्मा एक कम्पनी में केयर टेकर की नौकरी करते थे। उनकी माता का नाम पूर्णिमा शर्मा है जो एक हाउसवाईफ है। रोहित का एक छोटा भाई है, जिसका नाम विशाल शर्मा है। रोहित और उनका परिवार बौरिवली में एक कमरे के मकान में रहते थे। उनके पिता एक छोटी सी नौकरी करते थे। उनकी आर्थिक स्थिति इतनी अच्छी नहीं थी कि वे अपने पारिवार का पालन पोषण सही तरीके से कर सके रोहित के फ्यूचर को देखते हुआ उनके पिता ने रोहित को अपने माता पिता के पास भेज दिया


रोहित को बचपन से ही क्रिकेट का बहुत शौक था। भारतीय टीम का ऐसा कोई मैच नहीं था जो रोहित नहीं देखते थे। रोहित का क्रिकेट के प्रति जुनुन देखकर रोहित के चाचा ने रोहित को क्रिकेट Academy में Admission दिला दिया। उस एकेडमी के Coach थे- दिनेश लाड। दिनेश लाड ने रोहित के टेलेन्ट का कुछ ही दिन में भांप लिया और रोहित को अपने पास बुलाकर कहा कि तुम्हारा क्रिकेट बहुत अच्छा है तुम स्वामी विवेकानन्द इंटरनेशनल स्कूल में एडमिशन ले लो वहां पर क्रिकेट की बहुत अच्छी सुविधायें है। इस पर रोहित ने अपने घर की आर्थिक स्थिति बता दी और कहा कि इतना महंगा स्कूल में अफोर्ड नहीं कर सकता। इस पर दिनेश लाड ने रोहित को स्वामी विवेकानन्द इंटरनेशनल स्कूल में स्कोलरशिप दिलवाकर दाखिला दिलाया। उस स्कूल के क्रिकेट कोच भी दिनेश लाड ही थे। वहां 4 साल तक रोहित ने पढाई कि और साथ ही क्रिकेट को भी निखार लिया। रोहित शुरूआती समय में एक ऑफ स्पिनर के रूप में क्रिकेट खेलना शुरू किया था और वे थोड़ी बैटिंग भी कर लिया करते थे। लेकिन दिनेश लाड ने उनकी बैटिंग को देखकर नम्बर 8 से ओपनर बनाया। स्कूल टूर्नामेंट में रोहित ने ओपनिंग की और शानदार शतक लगाया। धीरे-धीरे रोहित बैटसमैन के रूप में स्थापित हो गये। 2005 की देवधर ट्राफी से अपना क्रिकेट करियर शुरू किया। शानदार प्रदर्शन के दम पर वे लाईमलाईट में आये और 2006-07 रणजी ट्राफी में भी उनका प्रदर्शन शानदार रहा। इसी साल रोहित को भारत की ओर से खेलने का भी मौका मिला।
 

रोहित के इस शानदार प्रदर्शन की बदौलत 2007 में रोहित का चयन भारतीय टीम में हुआ और उन्होने अपना पहला मैच आरलैण्ड के खिलाफ खेला। रोहित का चयन मात्र 20 वर्ष की उम्र में ही भारतीय टीम में हो गया था। रोहित को टी-20 मे पहचान 2007 के आईसीसी टी-20 में मिली जिसमें उन्होने धोनी के साथ मिलकर टीम को जीत दिलाई और मैन ऑफ मैच बने।
World record of Rohit Sharma in oneday international cricket. Rohit have make 3 double century in one day International
World Record of Rohit Sharma


आईपीएल में रोहित शुरूआत में डेक्कन चार्जस की ओर से खेलते थे। लेकिन 2011 में मुम्बई इण्डियन्स ने रोहित को 2 मिलीयन डॉलर की कीमत में खरीदा। 2013 में रोहित मुम्बई इण्डियन्स के कैप्टन बने और उनकी कप्तानी में मुम्बई ने 2015 और 2017 की आईपीएल ट्राफी जीती है। साथ ही रोहित के नाम 40 बाल्स में शतक और आईपीएल में एक हैट्रिक भी बनाई है

रोहित का वन क्रिकेट के रिकार्ड बहुत अच्छा है वनडे में अब तक जितने दोहरे शतक लगे है जिसमें से 3 तो सिर्फ रोहित ने ही बनाये है। साथ ही वनडे का सबसे बड़ा व्यक्तिगत स्कोर 264 का विश्व रिकार्ड भी रोहित के नाम है। जो उन्होने 2014 मे श्रीलंका के खिलाफ बनाया है। टेस्ट में रोहित को मौका 2010 में मिला लेकिन मैच की सुबह ही वे खेलते हुए घायल हो गये और फिर उनको टेस्ट में खेलने का मौका 2013 में मिला जिस टेस्ट में सचिन तेंदुलकर ने क्रिकेट को अलविदा कहा उसी टेस्ट में रोहित ने 177 रन के साथ टेस्ट क्रिकेट में आगाज किया।


रोहित को हाल ही में खत्म हुई श्रीलंका दौरे के लिए कप्तानी करने का मौका मिला था। इसमें रोहित का प्रदर्शन कप्तान के रूप में बहुत शानदार रहा है। रोहित ने एकदिवसीय और टी-20 क्रिकेट सीरीज अपने नाम की है। बल्लेबाजी में भी रोहित ने एकदिवसीय सीरीज में शानदार दोहरा शतक और टी-20 सीरीज में 35 गेंदो पर शतक बनाया है।


रोहित ने अपने बचपन की दोस्त रितीका से 13 दिसम्बर 2013 को शादी की है। आज उनकी कमाई करोड़ो मे है उनका कुल नेटवर्थ करीब 226 करोड़ है एक समय गरीबी को देखकर भी रोहित कभी हिम्मत नहीं हारे और आज एक सफल Cricketer बने है।

दोस्तों ये थी आज की कहानी मुझे उम्मीद है की ये आपको पसंद आयी होगी और इससे आपका आत्मविश्वाश बढ़ेगा. अगर आपको हमारे आर्टिकल पसंद आते है, तो हमारी मेहनत सफल है.
कृपया इस कहानी को ज्यादा से ज्यादा लाइक करे, शेयर करे और कमेंट करें. 
आपका बहुत बहुत धन्यवाद

No comments