कचरा बीनने वाला बना क्रिकेट का बादशाह- Real Inspiring Story

All Motivational Stories in Hindi on Myhindipost.com
Chris Gayle - Motivational Story Hindi



कचरा बीनने वाला बना क्रिकेट का बादशाह- Real Inspiring Story


किसी ने सही कहा है कि अगर आपमें काबिलियत है और कुछ करने का जज्बा है तो दुनिया की कोई ताकत आपको बड़ा बनने से नहीं रोक सकती है। आप चाहे कितने भी गरीब हो और आपकी स्थिति कैसी भी हो अगर आपमें कुछ करने की हिम्मत है तो आपको सफलता एक दिन जरूर मिलेगी और वो सफलता पुरी दुनिया देखेगी। आज हम बात कर रहें है ऐसे व्यक्ति की जिसका बचपन झुग्गी छोपड़ी में गुजरा। अपने परिवार का गुजारा करने के लिए लिए प्लास्टिक की बोतल और कचरा इक्टठा करके बेचा। यही नहीं जब इससे भी काम नहीं हुआ तो परिवार चलाने के लिए चोरी भी की। लेकिन आज वो व्यक्ति वर्ल्ड क्रिकेट की बहुत बड़ी हस्ती है। वो खिलाड़ी है, सिक्सर किंग-क्रिस गेल।


क्रिस गेल का जन्म 21 सितम्बर, 1979 किंग्सटन, जमैका में हुआ था। उनका परिवार एक टीन के छोटे से मकान में रहता था। वह अपनी पढ़ाई भी पुरी नहीं कर पाये क्योंकि उनके पिता के पास उनकी पढ़ाई के लिए भी पैसे नहीं थे। क्रिस गेल अपना और अपने परिवार का पेट पालने के लिए जगह-जगह कचरा और प्लास्टिक की बोतल बीना करते थे। कई बार उनको परिवार को चलाने के लिए चोरी भी करनी पडती थी।

19 साल की उम्र में लुकस क्रिकेट क्लब से उन्होने अपने क्रिकेट करियर की शुरूआत की। इसके बाद वो धीरे-धीरे अपनी मेहनत और जुनुन के दम पर अपने खेल को निखारते रहे। इसके ही फलस्वरूप उन्हे वेस्टइंडीज की राष्ट्रीय टीम में चुना और क्रिस गेल ने अपना पहला वनडे 1999 में भारत के विरूद्व खेला। उसमें वो कुछ खास ज्यादा नहीं कर सके लेकिन गेल ने अपनी गलतियों से सीखकर अपने खेल में सुधार करना निरन्तर जारी रखा। सन 2002 में एक साल में 1000 से ज्यादा रन बनाये। इसके दम पर वो टीम में अपना स्थान पक्का करने में सफल रहे। बाद में उन्होने अपना टी-20, 2006 में न्यूजीलैण्ड के खिलाफ खेला था। और टेस्ट क्रिकेट में भी अपना शानदार प्रदर्शन जारी रखा। टेस्ट में वे पहले ऐसे खिलाड़ी बने जिन्होने टीम का और अपना खाता छक्का लगाकर किया।

इन सभी सफलताओं के समय क्रिस गेल के जीवन में एक ऐसा मौका आया जिसने उनका हिलाकर रख दिया। 2006 में आस्ट्रेलियाई दौरे पर उन्हे पता चला कि उनके दिल में छेद है। एक बार तो वो बुरी तरह निराश हो गये। लेकिन उन्होने ऑपरेशन कराने का फैसला लिया जो बाद में सही साबित हुआ। इस ऑपरेशन के बाद उनका जीवन के प्रति जो नजरिया था वो बदला जिससे उनकी सफलता में भी बढ़ोतरी हुई। इसी कारण 2007 से 2010 तक टीम वेस्टइंडीज की कप्तानी करने का मौका गेल को मिला।

क्रिस गेल उल्टे हाथ से बेटिंग करते है। लेकिन वे सीधे हाथ से ऑफ स्पिन गेंदबाजी करते है। गेल ने अब तक दो तीहरे शतक बनाये है। जिसमें उनका व्यक्ति स्कोर 333 रन है जो उनका लकी नम्बर भी माना जाता है। सर डॉन ब्रेडमेन, ब्रायन लारा और विरेन्द्र सहवाग के बाद चौथे खिलाड़ी है जिन्होन अपने करियर में 2 तिहरे शतक बनाये। टी-20 की पहला शतक भी उनके नाम है तथा सर्वाधिक व्यक्गित स्कोर 175 है जो सिर्फ 11 ओवर में बना था।

रिकार्ड पहला ऐसा क्रिकेटर जिसने तीनों अन्तराष्ट्रीय फार्मेट में शतक लगाया है। टी-20 वर्ल्ड कप में शतक लगाने वाले पहले क्रिकेटर है। वर्ल्ड कप इतिहास के पहले ऐसे क्रिकेटर है जिन्होने ने दोहरा शतक लगाया है। टी-20 के पहले ऐसे क्रिकेटर है जिन्होने दस हजार रन बनाये है। उन्होने ने टी-20 क्रिकेट में सर्वाधिक 100 छक्के लगाये है।

एक समय तंगी हालत में रहने वाले गेल की सालाना आय 7 मिलीयन डालर है जो लगातार बढ रही है। गेल ने अपनी बायोग्राफी भी लिखा है जिसका नाम है सिक्स मशीन। गेल को डांस करना और हमेशा लाईफ को एन्जाय करना पसंद है। वे हमेशा खुश रहने वाले इंसान है।
-------------------------------------------------------------------------------
 दोस्तों ये थी आज की कहानी मुझे उम्मीद है की ये आपको पसंद आयी होगी और इससे आपका आत्मविश्वाश बढ़ेगा.
अगर आपको हमारे आर्टिकल पसंद आते है, तो हमारी मेहनत सफल है.
कृपया इस कहानी को ज्यादा से ज्यादा लाइक करे, शेयर करे और कमेंट करें. आपका बहुत बहुत धन्यवाद

No comments